April 22, 2013

बदलती दुनिया में महानायक

No comments:



जेम्स बांड हो या 'द डार्क नाइट राइजेज' का बैटमैन, वे बदलते वक्त की चुनौतियों के सामने थक रहे हैं। महानायकों के गुरूर तोड़ने के लिए सिर्फ आतंकी हमले काफी नहीं थे, बल्कि आर्थिक मंदी की मार और पश्चिमी दुनिया के बरक्स नई महाशक्तियों के उदय ने इन्हें और बौना बना दिया।
और पढ़ें

January 21, 2012

सोशल मीडिया पर ‘अनायकों’ की महागाथाएं

2 comments:
2011 की एक सुबह इलाहाबाद के गोविंद तिवारी की नींद खुलती है तो पता चलता है कि वे रातों-रात एक ऑनलाइन सेलेब्रिटी में बदल चुके हैं। उनका नाम विश्वव्यापी ट्विटर ट्रेंड में शामिल हो चुका है। ट्विटर ट्रेंड में गोविंद तिवारी का नाम भारत में पहले और विश्व में पांचवें स्थान पर चमक रहा था।
आगे पढ़ें

August 20, 2011

क्या कृष्ण हैं भारतीय नायक?

1 comment:
जहां हर बालक इक मोहन है, और राधा इक-इक बाला...
सिकन्दर-ए-आज़म (1965) में राजेन्द्र कृष्ण का लिखा गीत


कई बार कृष्ण ने छल का सहारा तो लिया मगर बड़े हितों को ध्यान में रखते हुए. उन्होंने सिर्फ मूल्यों का अनुसरण करने की बजाय उनका अवमूल्यन करने वालों को उन्हीं की भाषा में जवाब दिया. 
और पढ़ें